ग्रेजुएशन के बाद ?

उलझन : कंफ्यूजन : अब क्या करें ( विशेषतः 21+ के लिए )

20-21तक अधिकतर युवा ग्रेजुएशन की पढाई पूरी कर लेते हैं और उसके बाद की दिशा तय करने की उलझन में होते हैं । 20% तय कर चुके होते हैं कि आगे उन्हें मास्टर डिग्री की पढ़ाई करनी है जैसे की MBA, M.A, M.Sc, M.Com, M.Tech, MCA, P.G Diploma आदि. अन्य 20% युवा काम करना तय कर चुके होते हैं और उनमे आधे काम पा भी चुके होते हैं । 60% युवा उलझन की स्थिति में होते हैं ।

उलझन में न रहें । आगे का रास्ता तय करें । पहले तय करें कि आगे पढ़ाई करनी है या नहीं । अलग अलग विचार हो सकते हैं । मेरा विचार है कि मन हो और जरुरी हो तभी इस दिशा में आगे जाएं । कॉलेज वाले तो आप को बुलाएंगे ही । आइए हमारे कॉलेज से MBA कीजिए । फीस मात्र 5 लाख । पर हो सकता है कि यह आप की जरुरत न हो और वो लोग आप के माँ बाप की सारी जमा पूंजी लें जाएं । इसलिए सावधानी जरुरी है । एक दूसरा खतरा भी है, जो कम लोग समझते हैं । अपनी क्षमता से अधिक ज्ञानी, over qualified, होने का डर । आजकल समाज में ऐसे अनगिनत MBA या दूसरी मास्टर डिग्री धारक हैं जिन्हें एक letter या नोटिस तक लिखना नहीं आता, बाकी बातें बाद की । ऐसे लोग over qualified कहलाए जाते हैं और इन्हें नौकरी मिलने में सबसे जादा परेशानी होती है । इसलिए आगे पढ़ें पर अगर मन हो और जरुरत हो और लगन भी हो । एक बार तय कर लिया तो जी जान लगा कर आगे बढ़ें । पीछे मुड़ कर न देखें ।

Corporate Training

अगर आगे पढ़ने का मन नहीं है या जरुरत नहीं है तो दूसरा विकल्प सोचें । काम करना है या आराम करना है ? काम करना है तो कौन सा काम करना है ? अपना रोजगार या व्यवसाय या इंडस्ट्री या अपना प्रोजेक्ट करना है ? या फिर नौकरी करनी है ? अगर नौकरी तय किया तो यह भी तय कीजिए कि सरकारी और केवल सरकारी या फिर प्राइवेट भी हो सकती है या केवल गैर सरकारी । मन बनाइए और उसके मुताबिक आगे का रास्ता सोचिए । यह भी सोचिए कि कौन सी नौकरी -जैसे कि एडमिनिस्ट्रेशन, मार्केटिंग, फाइनेंस, टेकनिकल, ऑपरेशन, लोजिस्टिक, प्रोडक्शन, मैन्टेनेंस …… आदि । यह सोचना और तय करना जरुरी है । उसी के मुताबिक आगे की तैयारी होगी । जैसे कि अगर आपने लोजिस्टिक सोचा तो अब इसके बारे में पढ़िए, मालूमात हाशिल कीजिए, जरुरी कला कुशलता हाशिल कीजिए. Skills develop कीजिए । और फिर मैदान में उतरिए । इससे संबंधित नौकरियों के लिए आवेदन कीजिए । अगर कॉन्फिडेंस है तो सीधे संपर्क कीजिए । जब आप 100 जगह ऐसा करेंगे तो 1 जगह रास्ता खुल जाएगा । जब आप 1000 जगह करेंगे तो 10 जगह रास्ते खुल जाएंगे । आप के पास इंटरनेट है, फोन है, गूगल है, साधन हैं, प्रयास करना चालू कर दीजिए ।

सफलता मिलेगी । अवश्य ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share