हम सब साथ साथ बढ़ेंगे

दर्शन : समूह में शक्ति है ।

संदेश : सकारात्मक समूह बनाइए । सृजनात्मक समूह बनाइए । रचनात्मक समूह बनाइए । जीवन में आगे बढ़िए ।

Lets-move-together

We-will-move-together

एक मुलाकात :

हम सब साथ साथ बढ़ेंगे ।

कल की बात है । तारीख 12 मई 2015 । समय 5 बजे । स्थान चारबाग़, लखनऊ । पहले से तय समय पर मैं वहां पहुँच गया । बिज़नेस लिंक साप्ताहिक पत्रिका के सह संपादक डॉ. मुकेश जी के केबिन में दाखिल हुआ । मित्र भाई होता है । उठ खड़े हुए । चरण स्पर्श किए । मेरे हाथों से बैग ले कर एक किनारे रख दिया । यह सत्कार ही दिल जीतने के लिए काफी था । उन्होंने बताया कि सम्मानीय पत्रकार लक्ष्मीकांत जी भी इंतजार कर रहे हैं । वही लक्ष्मीकांत दुबे जी, जो दिल के अति कोमल हैं, कर्तव्य परायण हैं, जुझारू हैं, संघर्षशील हैं । उन्हें भी केबिन में बुलाया । सभी एक दूसरे से मिल कर बहुत प्रसन्न हुए । बहुत सारी बातें हुई । पत्रकारों के बीच था इसलिए अच्छी पत्रकारिता स्वाभाविक मुद्दा था । चाय का दौर चला । बात बात में 9 बज गए । पास में शाकाहारी होटल गए । भोजन किया । फोटो सेशन हुआ । बहुत आनंद आया ।

चलते चलते यह संकल्प लिया गया कि आपस में मिल कर कुछ सकारात्मक काम करेंगे और हम सब साथ साथ बढ़ेंगे.

We will move together. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share