Happiness Archive

कहाँ गये वो रिश्ते

हमारे घर से बाज़ार की दूरी कुल सौ मीटर होगी। मां शाम को सब्जी लेने जाती, तो मुहल्ले की चार महिलाएं साथ होतीं। घर में कभी किसी की जरा तबीयत खराब होती, तो दूर-दूर

सुखी रहने का मंत्र

वर्तमान को जिएं पहले क्या हुआ, कैसे हुआ, क्यों हुआ, क्या गलती हुई … आदि पर बहुत अधिक न सोचें. इससे निगेटिव विचार उत्पन्न होतें हैं. निगेटिव उर्जा उत्पन्न होती है. यह शारीरिक व

विश्वकर्मा पूजा

जब छोटा था तब गावं के लोहार के काम को बड़े ध्यान से देखता था । सोचता था कि ये ऐसा कमाल कैसे कर लेता है । बढ़ई मेरे को गुल्ली डंडा बना कर

खुश कैसे रहें

खुशी :  खुशी एक अनुभूति है. यह लंबे समय तक हो सकती है. जैसे कि – जब से वह जीत कर आया है, बहुत खुश है. यह क्षणिक भी हो सकती है. जैसे कि -चुटकुला

वो मेला होता था जिंदगी का

हमारे नाना कहते थे कि गंगा स्नान करने से सब पाप धुल जाते थे । बात पुरानी है । 1970-80 । गौरीगंज से माणिकपुर पॅसेंजर ट्रेन से नाना नानी गंगा स्नान करने जाते थे

माते से मिलन

बात 20 अगस्त 15 की है । मैं बेटा बेटी और पत्नी दिल्ली 12 बजे पंहुचे । वहां से अगली यात्रा रात 10 बजे की थी । 10 घंटे का समय था अपने पास

तू बहन हमारी है, सबसे प्यारी है

दुनिया की मेरी सारी बहनो के लिए –   धागा तू बांध पाए या नहीं मन का धागा बंधा हुआ है तेरे प्यार दुलार में बहना एक एक मोती गुथा हुआ है तू खुश

अगर मैं कवी होता

अगर मैं कवी होता तो कविता लिखता नदी पे लिखता हवा पे लिखता बच्चों पे लिखता युवा पे लिखता धरती का, दुलार लिखता आसमां का, प्यार लिखता लिखता उसकी, आंखे गीली लिखता खेत की,

हाँ देखा है मैंने

हाँ देखा है मैंने……. देहरादून के रास्ते जाते हुए उगते सुनहरे सूरज का गोला जो पेड़ों के बीच से झाँकता था मेरी ओर फिर देखा … सर पर नीला धुला आसमान ज़मीन पर बिछी

खुश रहने के 5 तरीके

सरल बनिए: आप जितने सरल होंगे उतने खुश रहेंगे. Complicated या Complex जीवन दुखी करेगा. सरल जीवन ख़ुशी देगा. सादगी और सरलता साथ साथ चलते हैं. सादगी आपको ख़ुशी के साथ साथ सुखी भी रखेगी.
Share