हिंदी में पढ़ें Archive

रघु के बाबा शहर में नौकरी करते हैं

रघु के बाबा शहर में नौकरी करते हैं. हर मैंने पैसा भेजते हैं. गावं में घर चल रहा है. बाबा को देखा तो पाता चला कि चौकीदारी करते हैं. दिन की शिफ्ट एक सोसाइटी

शीलम हम तुम्हारी इज्जत करते हैं

शीलम बहुत ही संस्कारी लडकी थी और माता पिता के दिये संस्कारों के साथ वह क्लास वन से ग्रेजुएशन तक की पढाई करती रही और बीएड करके वह अध्यापक भी हो गयी। इक्कीसवीं सदी

वो बहुत भोली थी

वो बहुत भोली थी । छठी में मैं पढ़ता था. City Montessori School लखनऊ में. स्कूल अच्छा था और अपने बच्चों को स्कॉलरशिप की तैयारी करवाता था । मैंने भी स्कॉलरशिप की तैयारी की

हम सब साथ साथ बढ़ेंगे

दर्शन : समूह में शक्ति है । संदेश : सकारात्मक समूह बनाइए । सृजनात्मक समूह बनाइए । रचनात्मक समूह बनाइए । जीवन में आगे बढ़िए । एक मुलाकात : हम सब साथ साथ बढ़ेंगे

क्या मुझे स्वरोजगार करना चाहिए ?

क्या मुझे स्वरोजगार करना चाहिए ? हां, जरूर करना चाहिए । स्वरोजगार : अगर आप अपना कोई काम करेंगे, रोजगार हो, दूकान हो, व्यवसाय हो, छोटा उद्यम हो, कारखाना हो, लघु उद्योग हो ,

अपने भाई को पढाएं

आज के समय में शिक्षा बहुत जरुरी है. नौकरी के जरुरी है. बिज़नेस के लिए जरुरी है. उद्योग के लिए जरुरी है. किसानी के लिए जरुरी है. छोटे काम के लिए जरुरी है. बड़े

जादा कैसे कमाएं ?

पहली चिंता : कैसे कमाएं उत्तर सीधा है और साफ़ है, काम करें । ऐसा काम करें जिसके बदले आप को पैसा मिले । काम क्या हो, कहां हो, कैसा हो – यह सब

रो लें, जी हल्का हो जाएगा !

कभी न कभी, दुःख सभी को होता है. कारण कुछ भी हो सकता है. घर की परेशानी, बच्चों का दुःख, रिलेशनशिप, प्यार की चोट, असफलता, व्यापार में हानि, खेती में नुकसान, किसी की बीमारी

मेरी बेटी मेरी खुशी है

जब मैं पीछे मुड़ कर देखता हूँ और खोजता हूँ खुशी कहां से आई, तो पाता हूँ कि खुशी बेटी से आई. बात पुरानी है. 16 साल पुरानी. तब हम संघर्ष कर रहे थे.

प्रमोशन के लिये डिग्री जरुरी हैं

नौकरी में Promotion के लिए कई चीजें जरुरी हैं.  शिक्षा व ज्ञान काम करने का हुनर या स्किल आप का काम, उसका परिणाम व गुणवत्ता आप के काम से होने वाला प्रत्यक्ष या परोक्ष लाभ
Share