हिंदी में पढ़ें Archive

प्रेम पत्र

प्रिये याद आ गई तुम्हारी । कैसी हो ? मुझे पता है, अपने घर में अपने पापा के साथ, अपने भैया भाभी के साथ खुश ही होगी । सुबह चाय से बिस्कुट खा कर

जीवन की बगिया महकेगी

यादें जब मैं और बेटे की माँ बेटे को 2011 में इंजीनियरिंग हॉस्टल में छोड़ कर लौट रहे थे, तो कार में fm पर ‘जीवन की बगिया महकेगी …’ व ‘तुझे सूरज कहूँ या

वे हमसे पहले चले गए

हम उन्हें लाने चले थे ट्रेन में ही थे 25 जून 2016 की तारीख थी सोच रहे थे कि पिताजी को अमेठी के गौरीगंज गावं से लाकर मुंबई में दवाई कराएं गे माँ ने

कुंभ की यादें

चार मई २०१६ की रात मैं, पत्नी व बेटी मुंबई से भोपाल के लिए अमृतसर एक्सप्रेस में सवार हो गए. उधर मामा मामी जी ने अमेठी से ट्रेन पकड़ी. माँ, पिताजी व मौसी जी

35+ स्त्रियों के लिए और सभी पुरुषों के लिए

स्त्रियां अक्सर बहुत दुःखी हो जाती हैं । दुःख में वो मर जाने की बात करती हैं । जैसे कि अब जादा दिन नहीं रहूंगी, मेरे जाने के बाद तुम कैसे रहोगे, यही चिंता

मेरी क्रिसमस

हरबती ने घर में आते ही रसोई का दरवाजा खोल दिया धूप अंदर आने के लिए…. धूप के साथ-साथ बाहर का शोर भी घर में आने लगा। हमारी सोसाइटी से जुड़ी दूसरी सोसाइटी के

माँ, तब तू बहुत सुंदर लगती थी

मैं तब छोटा था. गर्मी की छुट्टी में मों, पिताजी मेरे को लेकर लखनऊ से रात की पैसेंजर गाड़ी से अमेठी गावं जाते थे. रात तीन बजे गाड़ी पहुँच जाती थी. सुबह सुबह भोर

पैसा कमाने के तरीके सोचिए

अगर आप यह जानते हैं कि पैसा सब कुछ नहीं है फिर भी जिंदगी की गाड़ी चलाने के लिए कुछ कुछ हो तो फिर यह भी सोचिए कि पैसा कैसे कमाया जाए, सही तरीके

समाज प्रेम को स्वीकार करे

खबरें समाज, परिवार व रिश्तों पर चिंतन करने को मजबूर करतीं हैं। खबरें परिवर्तन करने को चीखती चिल्लाती है। खबरें कहतीं हैं कि अब हठ त्याग दो और समय के अनुसार कुछ तो परिवर्तन

I fail in interviews. What should I do ?

मैं इंटरव्यू में सेलेक्ट नहीं होता. मैं क्या करूँ ? यह आज के हर युवा का प्रश्न है. ग्रेजुएट होने के बाद सैकड़ों बातें मन में होती हैं. बहुत उलझन होती है. कैसे बायो-डाटा
Share