हम अपने ही मायाजाल में फंस गए

हम अपने ही मायाजाल में फंस गए 😕 बात 1988 की है. बिरजू (मेरे स्कूल व कॉलेज वाले दोस्त Brijesh Singh) ने कहा – अरुण, मुंबई आ जाओ. कोई रास्ता निकल आएगा. पिताजी से

कैरियर की बातें

कैरियर की बातें – – सर, मैं राजस्थान से बोल रहा हूँ, मैं आपको FB पर पढ़ता हूँ, मेरी बेटी भी पढ़ती है, कहती है कि उसने आपके पढ़ाई के टिप्स व memory tips

ज्ञान, हुनर, जिगर, संघर्ष सिखाइए

अगर केवल पढ़ाई से सफलता मिलती, तो आज का युवा असफल नही होता. मैं फिर से लिख रहा हूँ – अगर केवल पढ़ाई से सफलता मिलती, तो आज का युवा असफल नही होता. क्योंकि

अपनी पसंद का काम करें

युवाओं के लिए युवाओं को अपने मन का काम ढूंढ़ना व करना चाहिए. जब वो दसवीं पास करते हैं तब उनकी उमर 15 साल की होती है. अपना भविष्य सोचने व decide करने के

Saurabh Arya

गाजीपुर में एक लड़का है, नाम है सौरभ आर्य आज उसका मैसेंजर पर मैसेज देखा. यह मैसेज उसने 7 अप्रैल को जन्मदिन की बधाई देने के लिए लिखा था, पर मेरे नजर में आज आया.

Parenting

पैरेंटिंग (Parenting) अपने बच्चे को बहुत जादा प्रोटेक्टिव मोड में मत पालिए. उसे स्कूल स्वतः जाने दीजिए. दुकान से सामान लाने दीजिए. बिजली पानी के बिल भरने की लाइन में लगने दीजिए. सरकारी कार्यालयों

राम सीता काल्पनिक नही सच्चे हैं

यह रिसर्च समाचार पढ़िए – एम. अमृतलिंगम व पी. सुधाकर CPR Environment Education Centre में कार्यरत बॉटनी साइंटिस्ट हैं । उन्होंने रिसर्च किया । वाल्मीकि रामायण में लिखे पेड़ पौधों वनस्पति पर अध्यन किया

पैरेंट्स व अभिभावकों के लिए

खासकर माता पिता पैरेंट्स व अभिभावकों के लिए – जिसके पास skills होंगे, केवल वही survive करेंगे । knowledge या ज्ञान अपनी जगह ठीक है, पर स्किल्स को जादा महत्व दिया जाए । बच्चों को

मूछों वाले मामा जी

मेरे मूछों वाले मामा जी तब मैं छोटा था । दूसरी तीसरी में पढ़ता था । समझने लगा था । तब की यादें आज भी जिंदा हैं । तब आप की उम्र 20 के

लेखकों के लिए टिप्स

लेखकों के लिए टिप्स ट्रेंड देखिए और समझिए । ट्विटर ने छोटे वाक्यों का ट्रेंड स्थापित किया । लोगों को छोटे वाक्य पसंद आते हैं । अपनी बात को लिखते वक्त कॉमा, फुल स्टॉप,
Share