चरित्र उत्पन्न होंगे. खुशहाली आएगी ही. जिनके यहाँ ‘राम’ नहीं हैं, जिनके यहाँ ‘सीता’ नहीं हैं, उनसे आप चरित्र की अपेक्षा न करें. हर घर में ‘राम’ हों. वनवास में भी साथ देने वाली