Happy Family Archive

कहानी बहुत मीठी है

एक लड़का है । बहुत ही सरल स्वभाव वाला । एक दिन मेरे पास आया । बोला – सर, मेरे को डिप्लोमा करा दो । – अभी क्या किया है  – ड्राफ्टिंग किया है

Child’s reluctance to share parents love

Problem : When a new child enters in a family, existing child is reluctant to share parents love. Case : बेटी को लगता है भाभी आएगी और मम्मी पापा उसको जादा प्यार करने लगेंगे

गाँव की प्यारी बातें

गाँव की प्यारी बातें मैं आँख बंद किए खटिया पर लेटा था. सुबह के 8 बजे थे. छोटे भाई की पत्नी पूजा, धीमे धीमे किसी छोटे बच्चे से बात कर रही थी – भैया

यही प्यार मुझे पसंद है

मुंबई से अमेठी पहुंचे । गांव से छोटा भाई आया । प्लेटफॉर्म पर आते ही भाई ने कोई सामान लटकाया, तो कोई सिर पर रख लिया । – अरे, ये क्या, तुम तो सारा

मूछों वाले मामा जी

मेरे मूछों वाले मामा जी तब मैं छोटा था । दूसरी तीसरी में पढ़ता था । समझने लगा था । तब की यादें आज भी जिंदा हैं । तब आप की उम्र 20 के

बेचारा आदमी

बेचारा आदमी गौरीगंज, अमेठी के गांव से मुंबई में आकर आदमी काम करने लगा । शादी हो गई । बच्चे हो गए । स्थिरता के लिए उसने फ्लैट ले लिया । एक दूकान ले

माँ से मिलन

माँ से मिलन … पता था कि बेटा आज आएगा । पता तो 10 दिन पहले से था पर आज माँ का मन नहीं लग रहा था । सुबह से छत पर खड़ी राह

बहुत प्यारी हो तुम मीनू

किससे करें शिकायत हम दोनों एक दूसरे की 😊   मम्मी पापा से कर नहीं सकते, वो दुखी हो जाएंगे, खामखां । बात कोई गंभीर तो है नहीं, ये तो बस यूँ ही बात-बे-बात

35+ स्त्रियों के लिए और सभी पुरुषों के लिए

स्त्रियां अक्सर बहुत दुःखी हो जाती हैं । दुःख में वो मर जाने की बात करती हैं । जैसे कि अब जादा दिन नहीं रहूंगी, मेरे जाने के बाद तुम कैसे रहोगे, यही चिंता

माँ, तब तू बहुत सुंदर लगती थी

मैं तब छोटा था. गर्मी की छुट्टी में मों, पिताजी मेरे को लेकर लखनऊ से रात की पैसेंजर गाड़ी से अमेठी गावं जाते थे. रात तीन बजे गाड़ी पहुँच जाती थी. सुबह सुबह भोर
Share