अवसर सामने खड़ा होता है. हम देखते ही नहीं हैं. कई बार अवसर दरवाजा भी खटखटाता है. पर हम सुनते ही नहीं हैं.  उसकी क्या गलती वो वापस चला जाता है. लंबे समय के